Amarendra Singh

Halka Halka Swag

From Diary of Amarendra Singh
Writer | Blogger | Software Engineer
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
0

तेरा नाम….

इन हाथों की लकीरों मे मैने देखा है तेरा नाम, इन ख्याबो के महलो का मैने रखा है तेरा नाम. है नाम तेरा मेरी हर इक साँस मे समाया, ज़िंदगी के हर लम्हे पर मैने लिखा है तेरा नाम. ये मै जनता हु या रब जनता है, ये मै...

कुछ यू मिली नज़र उनसे

कुछ यू मिली नज़र उनसे के हाल सारा दिल का बता दिया . हमने पूछा भी ना था जो सवाल कभी , जवाब उन्होने इशारो मे बता दिया. कभी झूखी नज़र तो कभी लब मुस्करा गये, कभी झूखी नज़र तो कभी लब मुस्करा गये, कभी देखा ऐसे पलट के...

तुझसे बातें कर के गुजरती है रातें मेरी….

तुझसे बातें कर के गुजरती है रातें मेरी, तेरा दीदार कर के दिन गुजरता है मेरा. साँस लेना तो भूल सकता हूं मैं मगर, मुझसे भूला नहीं जाता अब चेहरा तेरा. तू कभी चाँद में, कभी सितारों में तो कभी फ़लक में दिखती है मुझे, अब तो...

वो गले लगे भी मेरे, तो किसी और की याद में….

वो गले लगे भी मेरे, तो किसी और की याद में, ना चाहते हुये भी मुझे, गले से उसे लगाना पड़ा. वो रो रहे है जिस की खातिर, वो मै नहीं कोई और है, ना चाहते हुये भी मुझे, सीने से उसे लगाना पड़ा. उसकी आखों में आसूं, मैनें देखे नही...

एक और पुकार…

मुझको दफना दो चाहे, या बहा दो अब किसी नदी में, मेरे बदन पर लगी ये आग, अब बुझती नहीं है बुझाने से… वो लोग जो जाग जाते थे, किसी की इक आहट से, वो लोग अब जागते नहीं है, मेरे इतना चिल्लाने से… लेकर दिया अपने...

अच्छा तुम हो….

इस अंधेरी रात मे ये रौशनी कहाँ से आई है. अच्छा तुम हो…. अब ये जाना की ये चांदनी कहाँ से आई है. क्यों मुस्कुरा रहे है फूल इस पतझड़ के मौसम में भी, अब ये जाना के बिन बादल के बरसात कैसे आई है. तेरे शहर में परिंदों ने...

मिशन चंद्रयान

तूने जाकर अंधेरे मे सब को है रौशनी दिखाई, अब तो मंजिल हमे खुद के पास नज़र आ रही है. गिरा के खुद को तूने सबको है चलना सिखाया, राहें अब चाँद की हमको साफ़ नज़र आ रही है. नहीं डगमगाया हमारा जूनू कुछ कर गुजरने का, तेरी क़ुरबानी...

हस के पुछा उन्होने राज़ मेरी उदासी का….

हस के पूछा उन्होने राज़ मेरी उदासी का, वो भी चाहते है की नाम उनका मेरी ज़ुबा पर तो आये… यू मुस्कुराकर चले गये वो सामने से मेरे, कोई पत्थर से जैसे किसी सीसे को तोड़ जाये… जख़्म-ए-दिल कर के भूल गये है वो शायद...